सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

529 Posts

5725 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 742298

काशी में मोदी जी के संकल्प की साक्षी बनीं माँ गंगा

  • SocialTwist Tell-a-Friend

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
10341433_10152453245402139_6994121986233847444_n
काशी में मोदी जी के संकल्प की साक्षी बनीं माँ गंगा
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

“यह अद्भुत है कि काशी की जनता ने बिना अपने प्रत्याशी को सुने उसे जीत सौंप दी.बनारस में मेरे मुंह पर ताला लगा दिया गया था.नामांकन के लिए आया तो लोगों से मौन संवाद किया.उस मौन संवाद को भरपूर समर्थन मिला.” यह उद्गार देश के भावी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने शनिवार को बनारस के दशाश्वमेध घाट पर व्यक्त किया.वो गंगा आरती में शामिल होने के बाद भाजपा के कार्यकर्ताओं और काशी की जनता को सम्बोधित कर रहे थे.
काशी में चुनाव के दौरान एक उम्मीदवार के रूप में उनके साथ किये गए अन्याय का उन्होंने जिक्र किया और उन्हें रिकार्ड मतों के अंतर से जिताने के लिए काशी के मतदाताओं के प्रति मोदी जी ने आभार प्रकट किया.गंगा आरती में शामिल होने से पूर्व मोदी जी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में जाकर देवाधिदेव महादेव का रुद्राभिषेक कराया.
भारतेंदु हरिश्चंद्र जी ने सन १९३२ में अपनी एक रचना ‘प्रेमजोगिनी’ में काशी के बारे में कहा था-
देखी तुमरी कासी, लोगो, देखी तुमरी कासी,
जहाँ विराजैं विश्वनाथ विश्वेश्वरी अविनासी.
आधी कासी भाट भंडोरिया बाम्हन औ संन्यासी,
आधी कासी रंडी मुंडी राँड़ खानगी खासी.
लोग निकम्मे भंगी गंजड़ लुच्चे बे-बिसवासी,
महा आलसी झूठे शुहदे बे-फिकरे बदमासी.
आप काम कुछ कभी करैं नहिं कोरे रहैं उपासी,
और करे तो हँसैं बनावैं उसको सत्यानासी.
हालाँकि आज की काशी सन १९३२ वाली नहीं है.वो बहुत हद तक बदल चुकी है.आज काशी की सबसे बड़ी समस्या दो हैं-पहली गंगा का पानी बहुत प्रदूषित हो गया है.है.आज वो पीने तो क्या नहाने लायक भी नहीं रह गया है.दूसरी सबसे बड़ी समस्या है-पूरे शहर का ख़राब सीवर सिस्टम.काशी की बहुत सी गलियों और कालोनियों में सीवर ओवर फ्लो करता रहता है,जिससे सीवर का गन्दा पानी सड़क पर जमा रहता है.जनता उस गंदे पानी को हेलकर आती जाती है.काशी की जनता इन दोनों समस्याओं का निराकरण चाहती है.इसीलिए काशी की जनता मोदी जी को सुनने के लिए बेचैन थी.लोंगो में ये उत्सुकता थी कि गंगा निर्मलीकरण के बारे में और शहर की गंदगी दूर करने के बारे में वो क्या कहते हैं ?मोदी जी ने काशिवासियों को निराश नहीं किया.उन्होंने अपने भाषण के दौरान मां गंगा का जिक्र करते हुए कहा-” मेरी इस मां ने मेरे लिए कई लक्ष्य तय किए हैं.जब-जब जो निर्देश मां गंगा की ओर से मिलेगा उसे पूरा करुंगा.
शायद मां गंगा की सेवा भी मेरे ही हिस्से लिखी थी, मैं इस काम को जरूर करुंगा.”मां गंगा के आंचल को स्वच्छ करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए मोदीजी ने कहा कि यह काम हम सभी को मिलकर करना होगा.उन्होंने गंगा ही नहीं बल्कि पूरी काशी को स्वच्छ करने पर जोर दिया.अपने ” स्वच्छ इंडिया मिशन ” की चर्चा करते हुए मोदीजी ने कहा-”आखिर कब तक स्वच्छता के मामले में हम सिंगापुर जैसे देशों को नजीर के तौर पर पेश कर खुद को कोसते रहेंगे.आज हम सब मिलकर संकल्प लेते हैं कि वर्ष-२०१९ में महात्मा गांधी की १५० वीं जयंती तक स्वच्छता के सपने को साकार करेंगे.”उन्होंने समस्त देशवासियों से आग्रह किया कि वे स्वच्छ भारत के स्वप्न को साकार करने में उनकी मदद करें.काशी की धरती और मां गंगा उनके “स्वच्छ काशी मिशन” और “स्वच्छ इंडिया मिशन” के संकल्प की साक्षी बनीं.
काशी को राष्ट्रगुरु बनाने की बात करते हुए मोदीजी ने कहा-”काशी को उसके पुराने आध्यात्मिक गौरव की ऊंचाई तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा.बनारस के राष्ट्र गुरु बने बिना भारत जगत गुरु नहीं बन सकता.देश अतीत की तरह आध्यात्मिक ऊंचाई पर पहुंचेगा तो स्वत: आर्थिक वैभव प्राप्त हो जाएगा.इसी खासियत की वजह से इतिहास में कभी भारत सोने की चिड़िया थी.”
चुनाव परिणामों पर बोलते हुए मोदी जी ने कहा-” संसदीय इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब देश का नेतृत्व अंग्रेजों की गुलामी के बाद स्वतंत्र भारत में पैदा हुए लोगों के हाथ में होगा.”किसी एक गैर कांग्रेसी दल को आजाद भारत के इतिहास में पहली बार स्पष्ट बहुमत मिला है.हमारे देश में पिछले कई दशक से मिलीजुली सरकारों का दौर चल रहा था,जिसमे राजनीतिक सौदेबाजी से लेकर अनेक घोटाले तक हुए.सत्ताधारी नेताओं के गलत निर्णयों और उनके भोगविलास में डूबे होने के कारण देश आर्थिक मंदी की चपेट में आ गया था और आमजनता महंगाई की मार से अधमरी हो चली थी.
लोकसभा चुनाव में भाजपा की भारी जीत से मोदीजी ख़ुशी से गदगद दीखे.भाजपा की ऐतिहासिक जीत के लिए उन्होंने देश की जनता का आभार जताया.इस चुनाव में कांग्रेस की हालत इतनी खराब है कि विपक्षी दल का ओहदा पाने के लिए भी वो भाजपा की दया पर निर्भर हो गई है.कई दल मिलकर अब विपक्षी दल बनाएँगे.इसी बात पर व्यंग्य करते हुए मोदीजी ने कहा-”अबकी बार जनता ने अन्य सभी दलों को ऐसा करारा चाटा मारा कि विपक्ष तैयार करने के लिए भी उन्हें गठबंधन करना पड़ेगा.”
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
आलेख,संकलन और प्रस्तुति=सद्गुरु श्री राजेंद्र ऋषि जी,प्रकृति पुरुष सिद्धपीठ आश्रम,ग्राम-घमहापुर,पोस्ट-कन्द्वा,जिला-वाराणसी.पिन-२२११०६.
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (18 votes, average: 4.94 out of 5)
Loading ... Loading ...

14 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rajanidurgesh के द्वारा
May 19, 2014

सदगुरुजी , आपने सही विचार रखा है बधाई

sadguruji के द्वारा
May 19, 2014

रजनीदुर्गेष जी ! ब्लॉग पर आपका स्वागत है ! पोस्ट जी सराहना के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ! भविष्य में भी आपकी प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा रहेगी !

Shivendra Mohan Singh के द्वारा
May 19, 2014

काशी का चतुर्दिक विकास, गंगा की सफाई, घाटों की सुंदरता इन सब पर ध्यान देना बहुत आवश्यक है. योजनाएं बहुत हैं सिर्फ जरूरत है उन योजनाओं पर समयबद्ध अमल की और मॉनिटरिंग की. आशा ही नहीं पूरी उम्मीद है कि मोदी जी किसी को निराश नहीं करेंगे. / आशा जगाता बहुत सुन्दर लेख. / मेरी नई रचनाओं को भी आशीर्वाद दें. http://rjanki.jagranjunction.com/

sadguruji के द्वारा
May 19, 2014

आपने सही कहा है कि काशी का चतुर्दिक विकास, गंगा की सफाई, घाटों की सुंदरता इन सब पर ध्यान देना बहुत आवश्यक है.हम सब को उम्मीद है कि मोदी जी इस ओर जरूर ध्यान देंगे.

PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
May 21, 2014

सद्गुरु जी संकल्प भी महान है व्यक्ति भी महान है शक्ति भी जनता ने भरपूर दी है नारा यही होना चाहिए अबकी गंगा स्वच्छ महान अब नहीं तो फिर कब ओम शांति शांति !

sadguruji के द्वारा
May 21, 2014

आदरणीय हरिश्चंद्र जी ! हार्दिक अभिनन्दन ! पोस्ट की सराहना के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ! मैं आपके लेख पढता रहा कोई कमेंट नहीं किया ! मैं सोच लिया था कि १६ मई के बाद ही कमेंट करूँगा ! १६ मई के बाद कमेंट करने की इच्छा ही नहीं रही ! आपने एक लेख का शीर्षक ही दे दिया था-सेवानिब्रत होंगे “नरेंद्र मोदी” १७ मई को ! आपने उसमे कहा था कि स्वप्निल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी १७ मई को सेवानिब्रत हो जायेंगे ! मुझे अच्छा नहीं लगा था ! नया लेख आपका अच्छा लगा ! भारतीय जनता पार्टी की जीत का कौन है चाणक्य ? मेरे विचार से तो देश की जागरूक जनता ही भारतीय जनता पार्टी की जीत चाणक्य है ! ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद !

PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
May 22, 2014

सद्गुरु जी सादर अभिवादन मेरे लेख पर आप दुखी हो जाते हैं मुझे दुःख हुआ किन्तु मैं आपका ध्यान अपने व्यंगों पर देना चाहता हूँ यह लेख नहीं होते यह सब के सब व्यंग ही हैं इनमें सत्य को व्यंग के रूप मैं ही दिखाया जाता इसको थोड़ा ध्यान देने पर आप व्यंग की उल्टी सीधी भाषा का आनंद ले सकते हैं | आप सद्गुरु की सीधी भाषा मैं ही देखते हैं | राजनीती और समाज बहुत उल्टा हो चूका है | क्या कोई राजनीतिज्ञ सीधी भाषा बोलता है | मुंह मैं राम बगल मैं चोरी ही होती है उनके | ओम शांति शांति शांति

sadguruji के द्वारा
May 22, 2014

आदरणीय हरिश्चंद्र जी ! हार्दिक अभिनन्दन ! मैंने अपनी बात स्पष्ट कर दी थी ! स्पष्टीकरण के लिए धन्यवाद !

harirawat के द्वारा
May 22, 2014

सद्गुरु महाराज सबसे पहले मेरा प्रणाम स्वीकार करें ! आपने मेरे ब्लॉग में आकर अपनी स्वीकारात्मक टिप्पणी से मेरा हौसला अफजाई किया, धन्यवाद करता हूँ ! साथ ही काशी के महत्त्व और उसकी समस्याओं के बारे में आपके विस्तृत लेख के लिए बधाई देता हूँ ! मोदी जी काशी की जनता के प्रतिनिधि बन गए हैं, समस्याएं धीरे धीरे समाप्त हो जाएँगी ! गुजरात की तरह काशी का विकास भी सर्वोपरी प्रयोरिटी नंबर वन होगा, यह मेरा मानना है ! शुभकामनाओं के साथ जागते रहो !

harirawat के द्वारा
May 22, 2014

गुरु जी नमस्कार ! आप मेरे ब्लॉग में आए भावनाओं के सार्थक पुष्प गिराए, बहुत सारा धन्यवाद ! आपके विस्तृत लेख पढ़ा, साथ ही मोदी जी को काशी की जनता का स्नेह मिला वे सहर्ष काशी की जनता के प्रतिनिधि बन गए, अब काशी का विकास होगा, गंगा शुद्ध होगी, गुजरात की तरह ही काशी भी आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश की एक आदर्श सिटी बन जाएगी, गंगा फिर से मुस्कराएगी ! अति सुन्दर लेख के लिए बधाई ! हरेन्द्र जागते रहो !

sadguruji के द्वारा
May 22, 2014

आदरणीय हरिरावत जी ! ब्लॉग पर आपका स्वागत है ! आपने सही कहा है कि-”अब काशी का विकास होगा, गंगा शुद्ध होगी, गुजरात की तरह ही काशी भी आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश की एक आदर्श सिटी बन जाएगी, गंगा फिर से मुस्कराएगी !” हम सब को भी यही उम्मीद है ! post पसंद करने के लिए धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
May 22, 2014

आदरणीय हरिरावत जी ! ब्लॉग पर आपका स्वागत है ! काशी को ही नहीं बल्कि पूरे देश को मोदी जी से बहुत उम्मीद है ! सबकी आशो को वो पूरा करें ! हार्दिक आभार !!

sadguruji के द्वारा
May 27, 2014

आदरणीय योगी जी ! हार्दिक अभिनन्दन ! पोस्ट आपने पसंद किया,इसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद !


topic of the week



latest from jagran