सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

493 Posts

5422 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1193400

कुछ समाचार व टिपण्णी कविता के रूप में-जागरण जंक्शन फोरम

Posted On: 21 Jun, 2016 कविता,Junction Forum,Social Issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

कई दिनों से मीडिया में बार-बार यही चर्चा चल रही !
‘गवर्नर रघुराम राजन दूसरे कार्यकाल हेतु राजी नहीं’!!
आरबीआई का गवर्नर यानि सबसे वरिष्ठ बैंककर्मी !
पर केंद्र सरकार ही तय करती है वो वरिष्ठ बैंककर्मी !!
आरबीआई का गवर्नर कांग्रेस ने था जिनको बनाया !
उन्होंने अर्थव्यवस्था को अंधों में काना राजा बनाया !!
अब संभव है कि नये गवर्नर एक और आँख लगा दें !
हमारे देश की अर्थव्यवस्था को सबसे बेहतर बना दें !!
राजन साहब के जाने के फैसले पर क्यों मचा है शोर ?
कांग्रेस है खिसिया रही, भाजपा के मन में नाचे मोर !!
राहुल गांधी के ४६वें जन्मदिवस पर सबने दी बधाई !
हम भी बधाई देते हुए कहेंगे, ‘रोको सत्ता की गंवाई’ !!
बेकार पड़े राजनीति के पचड़े में, शादी कर घर बसाते !
राजनीति में असफल होकर भाई ‘पप्पू’ तो न कहाते !!
‘वंशवाद’ की गुलामी से लोग क्या कभी होंगे आजाद ?
संभव है, यदि मोदी सा पीएम बनें हर चुनाव के बाद !!
ये खबर पढ़ी कि कैराना से हो आई संतो की भी टोली !
‘पलायन हुआ, पर गुंडों के भय से’ वो इतना ही बोली !!
‘वो गुंडे हिन्दू थे या मुस्लिम’, अच्छा होता वे बताते !
वे लोग जहाँ बहुमत में हैं, अल्पसंख्यक को हैं सताते !!
कैराना में हिन्दू घटकर आठ फीसदी क्यों हैं हो जाते ?
क्यों पाक में 2 व बांग्लादेश में 8 प्रतिशत हैं हो जाते !!
लाख कोशिश करलो, पर न होगा राज विश्व पर भाई !
‘जियो और जीने दो’ की ये सत्य नीति अपनाओ भाई !!
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर संदेश यही, करें सब योग !
ताकि आप स्वस्थ रहें और कर सकें सही ढंग से भोग !!
योग का खूब हो रहा प्रचार, ‘धर्म, अर्थ, काम’ के लिए !
‘मोक्ष’ किसे चाहिए, दौड़ सब ‘धन और ‘नाम’ के लिए !!
उपभोक्ताओं की जल्द न होगी, धन रूपी बैटरी चार्ज !
सरकार ने बढाए हैं टैक्स, होटल में खाओ तो दो चार्ज !!
अखबार बांटने वाले हॉकर अब ले रहे हैं ‘सर्विस चार्ज’ !
सरकार से पूछना क्या, ले रहे मनमाना ‘सर्विस चार्ज’ !!
हर चीज की बढ़ती हुई कीमत, ला रही है बड़ी आफत !
‘आमदनी अठन्नी खर्चा रुपईया’ महंगाई लाई शामत !!
हर मोहल्ले के उपभोक्ता संगठित हो मांगे अधिकार !
कहें, “दो सर्विस लेने का चार्ज, वर्ना झेलो बहिष्कार” !!
रिलायंस सीडीएमए मॉडेम में भरवाए थे तीन हजार !
कम्पनी ने सेवा बंद कर दी, कोई सुनने को न तैयार !!
भाई मैं तो देख रहा देश में, लूटपाट मची है चहुंओर !
रक्षक भी भक्षक बने, आया शरण में तेरी नंदकिशोर !!

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
(आलेख और प्रस्तुति= सद्गुरु श्री राजेंद्र ऋषि जी, प्रकृति पुरुष सिद्धपीठ आश्रम, ग्राम- घमहापुर, पोस्ट- कंदवा, जिला- वाराणसी. पिन- 221106)
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (8 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

12 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Shobha के द्वारा
June 21, 2016

श्री आदरणीय सद्गुरु जी देश की राजनैतिक उतार चढाव की सुंदर व्याख्या कविता क्या पूरा राजनितिक समीकरण बदलते हालात पर प्रकाश डाला है |

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

भाई मैं तो देख रहा देश में, लूटपाट मची है चहुंओर ! रक्षक भी भक्षक बने, आया शरण में तेरी नंदकिशोर !!

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

आदरणीया डॉक्टर शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! कभी कभी लेखन मे कुछ नया प्रयोग करने की इच्छा हो जाती है ! कविता लिखने पर मेरी कोई विशेष दक्षता नही है ! पोस्ट की सराहना करने के लिये हार्दिक आभार !

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

रिलायंस सीडीएमए मॉडेम में भरवाए थे तीन हजार ! कम्पनी ने सेवा बंद कर दी, कोई सुनने को न तैयार !!

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

हर मोहल्ले के उपभोक्ता संगठित हो मांगे अधिकार ! कहें, “दो सर्विस लेने का चार्ज, वर्ना झेलो बहिष्कार” !!

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

योग का खूब हो रहा प्रचार, ‘धर्म, अर्थ, काम’ के लिए ! ‘मोक्ष’ किसे चाहिए, दौड़ सब ‘धन और ‘नाम’ के लिए !!

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

बेकार पड़े राजनीति के पचड़े में, शादी कर घर बसाते ! राजनीति में असफल होकर भाई ‘पप्पू’ तो न कहाते !!

sadguruji के द्वारा
June 26, 2016

लाख कोशिश करलो, पर न होगा राज विश्व पर भाई ! ‘जियो और जीने दो’ की ये सत्य नीति अपनाओ भाई !!

rameshagarwal के द्वारा
June 28, 2016

जय श्री राम राष्ट्र की विभिन्न समस्याओ में आपने कविता के माद्यम से सत्यता दिखाई कैराना में संतो के आचरण बहुत गलत थे संत के नाते उन्हें सच कहना चाइये लेकिन प्रमोद कृष्णन कांग्रेस के एजेंट और हिन्दू विरोधी वे ढोंगी है दादरी पर महीनो बहकने वाला मीडिया भी चुप.हिन्दू सबसे दिलदार वाले लेकिन मूर्ख नहीं तो हिन्दू विरोधियो को वोट न दे.कविता  अत सुन्दर साधुवाद.

sadguruji के द्वारा
June 29, 2016

आदरणीय रमेश अग्रवाल जी ! जय श्री राम ! ब्लॉग पर स्वागत है ! आप सही कह रहे हैं कैराना जाने वाले संत निष्पक्ष नहीं थे ! उनकी रिपोर्ट भी निष्पक्ष नहीं थी ! पोस्ट की सराहना के लिए धन्यवाद !

Carlye के द्वारा
July 12, 2016

This was my second time attending this course. A lot has changes in the last two years and always more to learn which is why Bennie is the best person to teach. He is constantly learning and teaching most up to date techniques combined with prLnaice.tondoc, 21 Oct 2012

sadguruji के द्वारा
July 28, 2016

आदरणीय महोदय ! हार्दिक अभिनन्दन ! ब्लॉग पर आने और प्रतिक्रिया देने के लिए हार्दिक आभार !


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran