सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

529 Posts

5725 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1243818

मोबाइल कंपनियों द्वारा उपभोक्ताओं से ठगी जारी है- जंक्शन फोरम

Posted On: 6 Sep, 2016 Junction Forum,Politics,Social Issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

मोबाइल कंपनियों द्वारा उपभोक्ताओं से ठगी जारी है- जंक्शन फोरम
“100 का फ्री निश्चित रिचार्ज पाने के लिए डायल करें 53111 फ्री !”
“डायल 52256 मुफ्त ! बस जबाब दें दस सवालों के और रिचार्ज, डस्टर क्विड कार, और बुलेट बाइक ! सवाल- ताजमहल कहाँ है ? उत्तर ए- गोवा, बी- आगरा ! रिप्लाई ए/बी !”

मित्रों, आजकल मोबाइल पर ऐसे सन्देश खूब आ रहे हैं. इन सन्देशों की आड़ में अरबों-खरबों की जो ठगी हो रही है, उस तरफ राज्य सरकार, केंद्र सरकार या फिर टेलीफोन रेगुलेटरी अथारिटी आफ इंडिया (TRAI) का जरा भी ध्यान है, ऐसा लगता नहीं है. बहुत अफ़सोस की बात है कि अभी तक हमारे देश में मोबाईल कम्पनियों के खिलाफ शिकायत करने का कोई पारदर्शी तरीका उपलब्ध नहीं है. मोबाइल फोन कंपनियां अपने ग्राहकों की जेबों पर कैसे डाका डालती हैं और उनके खून-पसीने की कमाई कैसे पलभर में लूट ले रही हैं, उसकी एक बानगी देखिये. एक साहब ने 100 रूपये का फ्री रिचार्ज कूपन पाने के लालच में ढेरों सवालों के सही-सही जबाब दिए. जनाब जब आसान से सवाल-जबाब के इंद्रजाल से बाहर निकले तो हक्का-बक्का रह गए. उनके बैलेंस से 80 रूपये कट चुके थे.

महोदय फ्री कांटेस्ट में गए थे और दो रूपये प्रति सवाल के हिसाब से 80 रूपये दे के आये थे. वो सज्जन आइडिया के कस्टम केयर में फोन किये. वहां से गोलमोल जबाब मिला कि अभी तो प्रतियोगिता जारी है, 12 सितम्बर के बाद लकी विजेताओं को रिचार्ज कोड और इनाम दीये जाएंगे. प्रतियोगिता का नियम और चार्ज बताये बिना रात-दिन ठगी जारी है. जो सन्देश आपको वो भजेंगे, उसमे प्रतियोगिता के नियम और चार्ज का कोई जिक्र नहीं होगा, बस 100 का निश्चित रिचार्ज कोड, कार और बाइक देने का लालच देंगे. जिन सज्जन का मैंने जिक्र किया है उन्होंने आइडिया के कस्टमर केयर पर जब लम्बी बहस की और उपभोक्ता फोरम में जाने की धमकी दी तब उनके मोबाईल पर 1 सितम्बर 2016 को ये सन्देश आया.
“आपका स्कोर है 360 ! काल करने के लिए धन्यवाद ! अब 200 पॉइंट्स पर पाएं 100 रूपये का पेटम रिचार्ज कोड ! हैप्पी हार्स 6 PM – 11 PM ! डायल 53111 (टोल फ्री) !”

एक हफ्ते बाद भी उन सज्जन को न तो कोई रिचार्ज कोड मिला है और न ही कोई इनाम. ऐसी ही ठगी पूरे देशभर में करोड़ों उपभोक्ताओं के साथ रात-दिन हो रही है. ठगी की एक और बानगी देखिये. रिलायंस के जो पुराने ग्राहक थे, उन्हें 1600 रूपये के डोंगल के साथ एक महीने के लिए 10 जीबी 4जी डाटा कंपनी ने फ्री में दिया था. मात्र 14 दिन बाद ही कम्पनी ने ये सेवा बन्द कर दी. बिचारे मोबाइल के दुकानदार ग्राहकों की गालियां सुन रहे हैं. कम्पनी कुछ माह पहले भी अपनी सीडीएमए नेट सेवा एकाएक बन्द कर बहुत से ग्राहकों को परेशान की थी. डोंगल हो या फिर फ्री वाली 4जी सिम, सबमें ग्राहक को ही लूटा जा रहा है. फ्री वाली 4जी सिम ब्लैक में भी बेचीं जा रही है. 4जी अभी शुरू हुआ है, किन्तु अपने 3जी डोंगल में कई बार एयरटेल और बीएसएनएल की 3जी सेवा पाने के ढाई सौ रूपये से भी ज्यादा देकर रिजार्ज करवाया किन्तु न तो इन्टरनेट सेवा मिली और न ही रिचार्ज करवाये रूपये वापस मिले. देशभर में करोड़ों ग्राहकों के साथ ऐसा हो रहा है. कोई भी मोबाईल कम्पनी ये नहीं बताती है कि शहर के किन क्षेत्रों में उसकी सेवा उपलब्ध है और किन क्षेत्रों में नहीं है.

देशभर में निजी मोबाइल कंपनियों द्वारा उपभोक्ताओं से चौबीस घण्टे जारी ठगी का आलम ये है कि यह कंपनियां अपने आप ही कॉलर ट्यून या अन्य कोई सेवा लगा देती हैं और उपभोक्ताओं के खाते से पैसे काट लेती हैं. कस्टमरकेयर में शिकायत करने पर वहां बैठे उनके कर्मचारी केवल रटे-रटाए उत्तर देते हैं कि अमुक सेवा लेने से आपके खाते का बैलेंस खत्म हुआ है. ऐसी ठगी या कहिये ग्राहकों की जेबों पर डाका बड़ी बेशर्मी से समूचे देशभर में डाला जा रहा है. कई मोबाईल कम्पनियां 3जी इन्टरनेट सेवा का चार्ज ले रही हैं और 2जी सेवा भी ठीक से नहीं दे पा रही है. कई क्षेत्रों में न तो टॉवर है और न ही सिग्नल, फिर रिचार्ज के नाम पर लूट जारी है. बीएसएनएल की लैंडलाइन और वायरलेस इन्टरनेट सेवा भी अक्सर डिस्टर्ब रहती है. मोबाइल कंपनियों द्वारा पोस्टपेड ग्राहकों के साथ गलत बिल बना होने वाली ठगी के तो कहने ही क्या. आपने पेमेंट नहीं किया तो कुछ महीने बाद बेहद अभद्र भाषा में पुलिस और कोर्ट के नाम पर धमकी भरे फोन मिलने शुरू हो जाएंगे. मैंने आइडिया पोस्टपेड में पेमेंट कर दिया था, इसके बावजूद भी धमकी भरे फोन आते रहे.

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
आलेख और प्रस्तुति= सद्गुरु श्री राजेंद्र ऋषि जी, प्रकृति पुरुष सिद्धपीठ आश्रम, ग्राम- घमहापुर, पोस्ट- कन्द्वा, जिला- वाराणसी. पिन- 221106
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (12 votes, average: 4.92 out of 5)
Loading ... Loading ...

10 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Jitendra Mathur के द्वारा
September 7, 2016

मैं भी भुक्तभोगी हूँ आदरणीय सद्गुरु जी और इसीलिए मैं इस लेख में वर्णित तथ्यों एवं भावनाओं से पूर्णतः सहमत हूँ । आपके और मेरे जैसे करोड़ों भारतवासी प्रतिदिन इसी प्रकार ठगे जा रहे हैं । कॉल ड्रॉप द्वारा जो ठगी हो रही है, वह तो अलग ही है जिसमें बीएसएनएल भी सम्मिलित है । जब तक बीएसएनएल और एमटीएनएल अपनी सेवाएं नहीं सुधारते, निजी कंपनियों के पास तो जनता को लूटने का पूरा-पूरा अवसर रहेगा ही । सरकार भी इस ओर ध्यान नहीं दे रही । उपभोक्ता संरक्षक संस्थाएं इस संदर्भ में न जाने कैसी चुप्पी साधे बैठी हैं जबकि उपभोक्ताओं को खुलकर लूटा जा रहा है । आपने अनगिनत भारतीय मोबाइल फ़ोन उपभोक्ताओं के कष्ट को स्वर दिया है । आभार ।

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

100 रूपये के तथाकथित निश्चित मिलने वाले रिचार्ज कूपन के लालच में फंसने वाले जिन सज्जन की चर्चा ब्लॉग में मैंने की है, उन्हें एक हफ्ते बाद ये सन्देश मिला है- Congratulations !! App jeet gaye hain Rs.100 ka recharge code. Code Panein ke liyein Dial Kare 53111 ( TollFree ) aur 0 dabayein उन्होंने खुश होकर रिचार्ज कोड लेने के लिए जब 53111 पर काल कर 0 दबाया तो कोई भी रिचार्ज कोड नहीं मिला, बल्कि ऊल्टे कांटेस्ट के सवाल पूछे जाने ओर रुपये कटने फिर शुरू हो गए !

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

Dial 52256 MUFT bas 5 Din hai baki,jawab de 10 sawalon ke aur jeetein Rs.100 ka recharge, Duster Car,Bullet Bike. मोबाईल कंपनियों द्वारा हर सवाल के दो रूपये काटे जातें हैं, जो वो पहले नहीं बताते हैं ! जनता को मूर्ख बना लूटे जाने वाले आसान सवालों की कुछ बानगी देखिये- Q-1+1 kya hota hai? Ans-A)11 B)2 reply A/B

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

Khas Offer Sirf aap ke liye Dial 52256 MUFT aur Jeetein Rs.100 ka Recharge,Duster Car & Bullet Bike. Q-Kya khane layak hai? Ans-A) Aam B)Lakdi reply A/बी

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

Dial 52256 MUFT bas jawab de 10 sawalon ke aur jeetein Rs.100 ka recharge,Duster,Kwid Car & Bullet Bike Q-Taj Mahal Kahan hai? Ans-A)Goa B)Agra reply A/B

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

मोबाईल कंपनियों द्वारा 100 रूपये का निश्चित रूप से रिचार्ज कूपन देने का झूठा मैसेज ! जिन्होंने 360 पॉइंट्स हासिल किये, उन्हें भी कुछ नहीं दिया ! Happy Hour(6-11 PM) me de sirf 10 sawalo ke sahi jawab aur paye 100 Rupaye ka nischit recharge dial 53111 Tollfree

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

ग्राहकों को कांटेस्ट के जाल में फंसाकर लूटने के लिए दिन-रात भेजे जा रहे लुभावने विज्ञापन की एक और बानगी देखिये- 100 रुपये का फ्री निश्चित रिचार्ज पाने के लिए डायल करें 53111 फ्री !! अब देखना है कि दूरसंचार विभाग और ट्राई ऐसे भ्रामक और जनता को लूटने वाले सन्देशों पर क्या एक्शन लेते हैं ! प्रधानमंत्री जी से भी अनुरोध है कि वो इस ओर ध्यान दें, नहीं तो दूरसंचार विभाग से जनता का भरोसा ही उठ जाएगा !

sadguruji के द्वारा
September 7, 2016

आदरणीय जितेंद्र माथुर जी ! ब्लॉग पर स्वागत है ! आपने बिलकुल सही कहा है कि करोड़ों भारतवासी प्रतिदिन इसी प्रकार से ठगे जा रहे हैं ! कॉल ड्रॉप द्वारा जो ठगी हो रही है, वह तो अलग ही है जिसमें बीएसएनएल भी सम्मिलित है ! आपकी इस बात से भी पूर्णतः सहमत हूँ कि उपभोक्ता संरक्षक संस्थाएं इस संदर्भ में न जाने कैसी चुप्पी साधे बैठी हैं, जबकि उपभोक्ताओं को खुलकर लूटा जा रहा है ! पोस्ट के प्रति दिए गए आपके सहयोग और समर्थन का ह्रदय से आभारी हूँ ! ब्लॉग पर समय देने के लिए धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
September 10, 2016

बहुत से लोंगो का कहना है कि जब कभी भी वो रिचार्ज करवाते हैं तो कभी गाने के नाम पर, कभी कालर ट्यून के नाम पर, कभी दोस्ती के नाम पर, कभी मैसेज भेजने के नाम पर, तो कभी नंग-धड़ंग तस्वीर देखने के नाम पर बैलेंस काट लिए जा रहे हैं !

sadguruji के द्वारा
September 10, 2016

अफसोस और आक्रोश की बात यह है कि उन्होने ना कभी कोई गाना या कालर ट्यून लोड किया, ना ही कोई दोस्ती की, ना ही कोई मैसेज भेजा और ना ही कभी नंग-धड़ंग तस्वीर देखने की इच्छा जाहिर की, फिर भी ठगी का शिकार हो जा रहे हैं ! क्या केन्द्र सरकार इस ओर ध्यान देगी ?


topic of the week



latest from jagran