सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

516 Posts

5634 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1260363

कांग्रेस की खाट खड़ी करने में जुटी देश की अनुभवी व समझदार जनता

  • SocialTwist Tell-a-Friend

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

कांग्रेस की खाट खड़ी करने में जुटी देश की अनुभवी व समझदार जनता
कुछ रोज पहले अखबारों में एक बहुत दिलचस्प खबर पढ़ने को मिली कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाधी की खाट सभा में लगातार हो रही खाटों की लूट को देखते हुए अब खाटों पर पुलिस का पहरा बिठा दिया गया है. खाटों के चारों ओर अब पुलिस वाले तैनात रहते हैं, ताकि राहुल गांधी की खाट सभा खत्म होते ही खाटों की लूट न मच जाए. राहुल की खाट सभा खत्म होते ही आयोजक खाटों को समेटना शुरू कर देते हैं. वहां पर फ्री में खाट घर ले जाने की आस में खड़े सैंकड़ो लोग हाथ मलते रह जाते हैं. पुलिसवालों के हटने का इंतजार कर रहे कुछ लोंगों की पुलिस से बहस या फिर हल्की झड़प भी हो जा रही है. कई लोंगों ने मीडिया के सामने आकर कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि कांग्रेस के लोग और कार्यकर्ता गांव से लोगों को खाट का लालच देकर सभा में ला रहे हैं, किन्तु सभा ख़त्म होने के बाद खाट घर नहीं ले जाने दे रहे हैं. खाट और शर्ट देने के नाम पर झूठ बोलकर और बहला फुसलाकर कांग्रेस के लोग और कार्यकर्ता गांव से लोगों को लाते हैं. ये लोग ग्रामीणों के बीच जाकर गप्प हांकते हैं कि 10 ट्रक, 20 ट्रक खाट आया है, शर्ट आया है, जबकि हकीकत में कहीं कुछ नहीं आया होता है. बस लोंगो को मूर्ख बनाते हुए सभा के अंत में कांग्रेसी झंडा भर पकड़ा देते हैं.

पिछले 65 सालों में कांग्रेसी यही करते रहे हैं. उन्होंने कांग्रेसी झंडे के सिवा देश को दिया ही क्या है. कांग्रेसी झंडे की बजाय देश का तिरंगा जनता के बिच बांटे होते तो भी देश का कुछ भला हुआ होता. सब जानते हैं कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में इतना भ्रष्टाचार किया कि उनके अनेक नेताओं के घर भर गये और देश की जनता के हाथ कुछ नहीं आया. आज यदि राहुल की खाट सभा में लोग खाट पकड़ के सभा के अंत तक बैठे रहते हैं तो केवल इसी उम्मीद में कि भागते भूत की लंगोटी भली. राहुल गांधी कहते हैं कि वह किसानों से बात करने के लिए और उनकी समस्याओं को जानने के लिए के लिए खाट सभा करने निकले हैं. जनता उनसे आज यही पूछ रही है कि राहुल साहब 65 साल आपके परिवार का इस देश पर शासन रहा, किन्तु फिर भी किसानों की अनेकों छोटी-बड़ी समस्याएं हल क्यों नहीं हुईं? आज यदि किसानों के लिए कोई सही ढंग से सोच रहे हैं और उनके हित के लिए रात दिन काम कर रहे हैं तो, वह है देश के प्रधान सेवक नरेन्द्र मोदी. किसानों की समस्याएं तो दूर करने की बात दूर रही, राहुल गांधी तो ठीक से बोल तक नहीं पाते हैं. कौशाम्बी में हुई खाट सभा में राहुल गांधी ने जो कुछ कहा, उस पर ज़रा गौर फरमाइए.
locals-takes-away-khaat-620x400
राहुल गांधी ने कहा कि जब किसान खाट अपने घर ले जाएं तो उन्हें पत्रकार चोर कहते हैं लेकिन जब विजय माल्या कई हजार करोड़ लेकर फरार हो जाएं तो मोदी सरकार चुप रहे ये कैसी नीति है. मजेदार बात ये है कि किसी भी पत्रकार ने खाट को अपने घर ले जाने वाले किसानों को चोर या लुटेरा नहीं कहा है. वो कभी कहते हैं कि पत्रकार ऐसा कह रहे हैं तो कभी कहते हैं कि भाजपा के लोग ऐसा कह रहे हैं, जबकि वो सरासर झूठ बोल रहे हैं. वो खुद ही ऐसा कह रहे हैं. रही बात विजय माल्या की तो क्या वो नहीं जानते हैं कि कई हजार करोड़ रूपये कांग्रेस के ही शासनकाल में बैंकों ने उन्हें दिए थे. कांग्रेस का शासन आज होता तो विजय माल्या ये रूपये डकार जाता, किन्तु ये मोदी सरकार है, जो विजय माल्या की जमीन जायदाद सब नीलाम कर कर्ज से भी ज्यादा वसूली करने की फिराक में जुटी है. इसे कहते हैं देशभक्ति. उत्‍तर प्रदेश के आगामी चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी राज्‍य में ‘किसान यात्रा’ पर निकले हैं. कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार या चुनाव जिताने के ठेकेदार कहिये, प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी को किसानों की समस्याओं से चुनावी फायदा उठाने के लिए यूपी में ‘खाट सभा’ करने का आइडिया दिया था.

यूपी का आगामी चुनाव क्या रंग लाएगा और किसके पक्ष में जाएगा, ये तो भविष्य ही बताएगा, किन्तु फिलहाल तो जनता कांग्रेस की खाट खड़ी करने में उसी तत्परता और लगन से जुटी है, जैसा कि उसने 2014 के लोकसभा चुनाव में किया था. कांग्रेस को वो ऐसे रसाताल में लाई कि वो विपक्षी दल कहलाने लायक भी नहीं रही. लोकतंत्र में सर्वथा ये उचित और नितांत जरुरी है कि केंद्र और हर राज्य में एक मजबूत विपक्षी दल और उसका एक सुयोग्य नेता जरूर होना चाहिए ताकि सत्तापक्ष पथभ्रष्ट और निरंकुश न हो. अपना योग्य नेता चुनने को हर पार्टी स्वतन्त्र है, किन्तु नेता तभी सफल होता है, जब जनता साथ दे. विदेशी होने का जो संवेदनशील मुद्दा सोनिया गांधी के लिए उठा था, वो जनता के मन में आज भी कहीं न कही सोनिया गांधी के बच्चों के लिए भी जीवित है और हमेशा रहेगा. अखण्ड भारत का स्वप्न देखने वाले आचार्य चाणक्य चन्द्रगुप्त मौर्य और ग्रीक की राजकुमारी हेलेना का प्रेम विवाह इसी शर्त पर होने दिए थे कि चन्द्रगुप्त और हेलेना से उत्पन्न संतान उनके अखण्ड भारत की उत्तराधिकारी नहीं होगी. अंत में यही कहूंगा कि कांग्रेस की खाट खड़ी करने में जुटी देश की समझदार और अनुभवी जनता शाबाशी और बधाई की हकदार है.

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
आलेख और प्रस्तुति= सद्गुरु श्री राजेंद्र ऋषि जी, प्रकृति पुरुष सिद्धपीठ आश्रम, ग्राम- घमहापुर, पोस्ट- कन्द्वा, जिला- वाराणसी. पिन- 221106
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 4.86 out of 5)
Loading ... Loading ...

16 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

sadguruji के द्वारा
September 23, 2016

मीडिया मे छपी खबरों के मुताबिक राहुल गांधी की खाट पर बैठक और राहुल के जाते ही खाट लूटने में मामले पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने भी निशाना साधा है ! उनका कहना है कि खटिया फ्री में मिले इसीलिए वहां भीड़ इकठ्ठा हुई थी कांग्रेस को इसके पहले किसानों की याद नहीं आई ! कांग्रेस को केंद्र में सरकार रहते कभी किसानों की याद नहीं आई तो अब कांग्रेस किसानों के साथ खाट पंचायत लगाकर सिर्फ किसानों को ठगने का काम कर रही है ! उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अपना वजूद ख़त्म कर चुकी है !

sadguruji के द्वारा
September 23, 2016

केंद्रीय टेक्सटाइल मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की चुटकी लेते हुए कहा है कि कांग्रेस की खाट तो जनता ने पूरे देश में खड़ी कर दी हैं, ऐसे में राहुल की ‘खाट सभा’ का कोई मतलब नहीं रह गया हैं। राहुल ने अमेठी की जनता से जो वादे किये थे पहले उन्हें तो पूरा करें।

sadguruji के द्वारा
September 23, 2016

जगदंबिका पाल ने कहा कि जितनी देर प्ले चलता है लोगों को लगता है कि कुछ हकीकत में हो रहा है. लेकिन जब प्ले समाप्त हो जाता है तब पता चलता है कि ये महज ड्रामा था. राहुल और कांग्रेस के साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है जनता कांग्रेस को पसंद नहीं करती है. देश की जनता ने कांग्रेस को उसके हाल पर छोड़ दिया है.

sadguruji के द्वारा
September 23, 2016

भारतीय जनता पार्टी के सांसद जगदंबिका पाल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की किसान यात्रा का निशाना साधते हुए कहा है कि यूपी में पिछले 27 सालो में कांग्रेस बेहाल हो चुकी है और अपनी खोई हुई जमीन तलाशने का काम कर रही है जब कांग्रेस की सरकार थी, उस वक्त राहुल गांधी को कभी भी किसानों की याद नहीं आई थी और अब ड्रामा और नौटंकी कर रहे हैं.

sadguruji के द्वारा
September 23, 2016

केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा है कि यूपी में कांग्रेस का सूपड़ा साफ होने जा रहा है. वो खटिया पर चर्चा करें या जमीन पर कोई फायदा नहीं है. उनको अब खटिया पर बैठकर चर्चा करना याद आया है. कांग्रेस को सिर्फ वोट की चिंता है, लेकिन इससे कुछ होने वाला नहीं है.

sadguruji के द्वारा
September 23, 2016

मीडिया मे छपी खबर के अनुसार कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मऊ में जिस गरीब दलित स्वामीनाथन के घर खाना खाया था, उन्होने राहुल गांधी को खाना खिलाने के लिए पड़ोस से 10 किलो आटा उधार लिया था ! राहुल गाँधी तो उन्हे कुछ नही दिये अलबत्ता अगले ही दिन एक सपा नेता ने स्वामीनाथन को 25 हजार रुपये की सहायता दे आये ! गरीब के घर नेता अपने लाव लश्कर के साथ जाएँ तो राशन पानी ले के जाएँ यही अच्छा है ! वो गरीब जनता पर बोझ क्यों बन रहे हैं ?

rameshagarwal के द्वारा
September 23, 2016

जय श्री राम सद्गुरु जी कांग्रेस छाए जितना जोड़ लग ले कोइ फायेदा नहीं होगा जनता ने कांग्रेस की लूट देखी है जहाँ कांग्रेस है वही समस्या है ऍलोग ज्यादा आते है लेकिन इसको वोटो में परवर्तित होना मुस्किल बहुत से लोह खटिया लूटने आते.राहुल को खुद मालूम की कुछ नहीं होगा नाटक करता ,अच्छा लेख.

Shobha के द्वारा
September 23, 2016

श्री आदरणीय सद्गुरु जी जैसे ही राहुल जी की चर्चा खत्म होती है लोग जिन खाटो पर बैठते हैं उन्हीं को लेकर चल देते हैं वह सोचते हैं कब तुम्हारी सरकार आएगी आयगी भी यह पता नहीं जो मिल रहा है उठा कर ले जाओ राहुल जी ने अपनी शक्ल सूरत भी खालिस गावं वालों की बना ली है बढिया लेख

sadguruji के द्वारा
September 24, 2016

जय श्री राम आदरणीय रमेश अग्रवाल जी ! ब्लॉग पर स्वागत है ! आपने ठीक कहा है कि राहुल की खाट सभा में आने वाली भीड़ वोटों में परिवर्तित नहीं होने वाली है ! लोग राहुल को देखने और खाट लूटने भर के लिए आते हैं ! पोस्ट को पसंद करने के लिए धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
September 24, 2016

आदरणीय डॉक्टर शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! पोस्ट की सराहना के लिए धन्यवाद ! आपने बिलकुल सही कहा है कि लोग जानते हैं कि कांग्रेस की सरकार नहीं बनने वाली है, इसलिए खाट लेकर ही सन्तोष कर लेते हैं ! लोंगो के मन में इनके प्रति ये आक्रोशित अनुभूति तो है ही कि इन्होंने देश को लूटा है ! खटिया ले जाना भी उसी आक्रोश का प्रदर्शन है ! ब्लॉग पर समय देने के लिए सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

मीडिया प्रकाशित समाचार के अनुसार उत्तर प्रदेश के सीतापुर में जारी एक रोडशो के दौरान सोमवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर एक युवक ने जूता फेंका ! कांग्रेस उपाध्यक्ष पर जूता फेंकने वाले 25-वर्षीय युवक अनूप मिश्रा को हिरासत में ले लिया गया है ! किसी पर जूता फेंकना निन्दनीय और अमानवीय है ! हम इसकी घोर निन्दा करते हैं !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

जिस समय कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ओर जूता फेंका गया उस समय वह लखनऊ से करीब 85 किमी दूर सीतापुर शहर में एक खुले वाहन पर यात्रा कर रहे थे. जूता उनके पीछे बैठे एक व्यक्ति को लगा.

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

इस घटना के बाद राहुल गांधी ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं एक बस पर सवार होकर जा रहा था और मुझ पर जूता फेंका गया. यह मुझे नहीं लगा. मैं बीजेपी और आरएसएस से कहना चाहता हूं कि आप मुझपर जितने मर्जी जूते फेंकें, लेकिन मैं पीछे नहीं हटूंगा. मैं आपसे नहीं डरता. मैं प्यार और भाईचारे में हमेशा विश्वास रखूंगा और आप नफरत के साथ चिपके रहें.’ राहुल गाँधी जी जूता फेंकने वाले युवक से बीजेपी और आरएसएस से क्या लेना देना. आप ने तो झूठ बोलने की अति कर दी. right

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

राहुल गांधी की तरफ जूता फेंकने वाले अनूप मिश्रा एक पत्रकार हैं. उन्होने कहा, ‘कांग्रेस ने पिछले 60 साल में देश को बर्बाद कर दिया है. मैं पिछले दो साल से पत्रकार हूं और मैं जानता हूं जब ये लोग सत्ता में थे, तब इन्होंने क्या किया?’


topic of the week



latest from jagran