सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

530 Posts

5763 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1262420

पाकिस्तान: परमाणु परीक्षण और परमाणु हथियार बेचना दोनों जारी है

  • SocialTwist Tell-a-Friend

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

पाकिस्तान: परमाणु परीक्षण करना और परमाणु हथियार बेचना दोनों बेरोकटोक जारी है. है किसी मुल्क या यूएन में हिम्मत, जो दुनिया को विनाश की ओर ले जाने वाले पाकिस्तान को समय रहते रोक सके?
अंग्रेजी अखबार ‘संडे गार्जियन’ ने एक बेहद सनसनीखेज खबर छापी है कि पाकिस्तान उत्तर कोरिया को परमाणु बम सप्लाई कर रहा है. अखबार में ‘North Korea’s Bomb Made in Pakistan’ यानि ‘नॉर्थ कोरिया के बम पाकिस्तान में बने थे’ शीर्षक से छपी एक रिपोर्ट के अनुसार इस साल उत्तर कोरिया द्वारा किए गए परमाणु परीक्षण में जिस परमाणु बम का प्रयोग किया गया था, वो पाकिस्तान में बने हुए थे. इस चौकाने वाली रिपोर्ट के अनुसार दोनों देशों के बीच परमाणु हथियारों पर सहयोग और सौदेबाजी सन 1990 के पहले से ही चल रही है. वर्ष 1998 में पाकिस्तान अपने यहाँ चगाई में परमाणु परिक्षण के बाद गुप्त रूप से उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार बनाने के कार्यक्रमों में न केवल भरपूर सहयोग देता रहा बल्कि समूची दुनिया की आँखों में धूल झोंकते हुए अपने यहां बने परमाणु हथियारों का परिक्षण भी उत्तर कोरिया में करता रहा. इस रिपोर्ट से यह बात भी स्पष्ट होती है कि वो उत्तर कोरिया को परमाणु हथियार बेच भी रहा है.

पाकिस्तान और उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रमों पर गुप्त रूप से जासूसी नजर रखने वाले विशेषज्ञों के अनुसार उत्तर कोरिया द्वारा अक्टूबर 2006 और मई 2009 में किए गए परमाणु परीक्षणों में पाकिस्तान के वैज्ञानिकों ने पूरा साथ दिया था. इन विशेषज्ञों के अनुसार पाकिस्तान और उत्तर कोरिया दोनों ही देशों में वहां की सेना ही परमाणु हथियारों को बनाने और तथा उस पर कंट्रोल रखने की जिम्मेदारी निभा रही है. सन 1998 में उत्तरी कोरिया द्वारा पाकिस्तान के किसी पूर्व आर्मी चीफ को 30 लाख डॉलर देने की बात भी बहुत जोरशोर से उठी थी, जब उत्तर कोरिया के एक उच्च अधिकारी का ए.क्यू. खान को लिखा हुआ पत्र मीडिया के जरिये जग जाहिर हो गया था. उस समय ए.क्यू.खान ने टीवी चैनल पर पूरी दुनिया के सामने कुबूल किया था कि उन्होंने परमाणु हथियार बनाने की तकनीक उत्तर कोरिया को बेची थी. ईरान और सीरिया को भी परमाणु तकनीक बेचने की बात उन्होंने स्वीकारी थी.
IndiaTv7a8079_india-nuclear
सारी दुनिया इस बात को जानती है कि पाकिस्तान के बदनाम वैज्ञानिक ए.क्यू. खान ने परमाणु हथियार विकसित करने की तकनीक (सेंट्रिफ्यूज इनरिचमेंट टैक्नोलॉजी) लाखों-करोड़ों डॉलर लेकर चोरी-छिपे अवैध तरीके से उत्तर कोरिया को बेची थी. ‘संडे गार्जियन’ में छपी रिपोर्ट पाकिस्तान का असली चेहरा दिखाने वाली है. सारी दुनिया के सामने अब एक बात साफ़ हो चुकी है कि पाकिस्तान एक से बढ़कर एक खतरनाक परमाणु हथियार न सिर्फ बना रहा है, बल्कि उत्तरी कोरिया ले जाकर उसका परीक्षण भी कर रहा है. इसके साथ ही वो कई देशों को परमाणु हथियार भी बेच रहा है. पाकिस्तान ने उत्तर कोरिया, ईरान और सीरिया सहित न जाने कितने देशों को घातक परमाणु हथियार बेंचे होंगे. आने वाले समय में यदि वो आतंकवादियों को भी खतरनाक परमाणु हथियार बेचना शुरू कर दे तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी. परमाणु हथियारों के नाम पर ही पाकिस्तान सन 1998 से भारत को धमकाता चला आ रहा है.

हालांकि ये बात पाकिस्तान अच्छी तरह से जानता है कि भारत पर परमाणु बम गिराया नहीं कि वो संसार के मैप से हमेशा के लिए गायब हो जाएगा. यूएन ने अमरीका, चीन, भारत, पाकिस्तान सहित सभी देशों से परमाणु परीक्षण पर रोक लगाने को कहा है. वर्ष 1996 में 160 से अधिक देशों ने व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि (सीटीबीटी) को अपनी स्वीकृति प्रदान की थी. इस समझौते के बाद भारत, पाकिस्तान तथा उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण किए हैं. उत्तर कोरिया ने वर्ष1985 में एनपीटी (परमाणु अप्रसार संधि) पर हस्ताक्षर किया था, किन्तु 2003 में उसने खुद को इस संधि से अलग कर लिया था. इस वर्ष अमेरिका ने मिनी परमाणु बम बनाया है. अन्य कई बड़े देश भी घातक परमाणु हथियार बना ही रहे हैं. ऐसे में व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि के क्या मायने रह जाते हैं? चीन, अमेरिका, उत्तर कोरिया, मिस्र, ईरान, इजरायल और पाकिस्तान से परमाणु परीक्षणों पर रोक लगाने की बात करना ही व्यर्थ है.

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
आलेख और प्रस्तुति= सद्गुरु श्री राजेंद्र ऋषि जी, प्रकृति पुरुष सिद्धपीठ आश्रम, ग्राम- घमहापुर, पोस्ट- कन्द्वा, जिला- वाराणसी. पिन- 221106
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (10 votes, average: 4.90 out of 5)
Loading ... Loading ...

18 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Dr shobha Bhardwaj के द्वारा
September 27, 2016

श्री आदरणीय सद्गुरु जी परमाणु परीक्षण ,परमाणु संचयन ऐसे देशों को परमाणू हथियार बेचने पर बहुत जानकारी देता लेख लीबिया का कर्नल गदाफी ज़िंदा था उसे एटम बम हासिल करने की बहुत चाह थी नार्थ कोरिया का डिक्टेटर भी भला नहीं है देखा जाए पाकिस्तान ने बन्दर के हाथ में तलवार दे दी |

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में पाकिस्तान और उसके प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दोहरे चाल और चरित्र को पूरी तरह से बेनकाब कर दिया है ! यूएन में सुषमा स्वराज ने दृढ़ता के साथ कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा ! पाकिस्तान उसे छीनने का ख्वाब देखना छोड़ दे ! पाकिस्तान कश्मीर के सपने देखना छोड़ बलूचिस्तान की ओर देखे !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में कहा कि जो लोग दूसरों पर मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगा रहे हैं, उन्हें अपने गिरेबां में झांकने की जरूरत है !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में कहा कि दुनिया में ऐसे देश हैं जो बोते भी हैं तो आतंकवाद, उगाते भी हैं तो आतंकवाद, बेचते हैं तो भी आतंकवाद और निर्यात भी करते हैं तो आतंकवाद का ! आतंकवादियों को पालना उनका शौक बन गया है ! ऐसे शौकीन देशों की पहचान करके उनकी जबावदेही सुनिश्चित की जानी चाहिए !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में कहा कि जिनके अपने घर शीशे के बने हों, उन्हें दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकने चाहिये !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में कहा कि हमारे बीच ऐसे देश हैं जहां संयुक्त राष्ट्र की ओर से नामित आतंकवादी स्वतंत्र रूप से विचरण कर रहे हैं और दंड के भय के बिना जहरीले प्रवचन दे रहे हैं !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में कहा कि ऐसे देशों को अलग-थलग कर देना चाहिए जो आतंकवाद की भाषा बोलते हों और जिनके लिए आतंकवाद को प्रश्रय देना उनका आचरण बन गया है !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूएन में कहा कि हमें उन देशों को भी चिन्हित करना चाहिए जहां संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकवादी सरेआम जलसे कर रहे हैं, प्रदर्शन निकालते हैं, जहर उगलते हैं और उनके पर कोई कार्रवाई नहीं होती ! इसके लिए उन आतंकवादियों के साथ वे देश भी दोषी हैं जो उन्हें ऐसा करने देते हैं !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूएन में कहा कि आतंकवाद मानवाधिकारों का सबसे बड़ा उल्लंघन है ! ये हम सबको स्वीकार करना होगा ! इसके बाद देखना होगा कि इन आतंकवादियों को पनाह देने वाला कौन है? न तो इनका अपना बैंक है न अपना हथियार घर ! तो कौन इन्हें धन देता है, कौन इन्हें हथियार देता है, कौन इन्हें संरक्षण देता है !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूएन में कहा कि जिनके घर शीशे के होते हैं वो पत्थर दूसरों पर नहीं फेंकते ! पाकिस्तान बगल में अपने घर में तो देखे ! बलूचिस्तान में मानवाधिकारों के हनन की पराकाष्ठा हो गई है !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यूएन में कहा कि हमने सरकार के शपथ ग्रहण करते समय पाकिस्तान को निमंत्रण देते समय कोई शर्त रखी थी क्या? पाकिस्तान किस शर्त की बात कर रहा है ! पाकिस्तान से दोस्ती के बदले हमें पठानकोट मिला !

sadguruji के द्वारा
September 27, 2016

आदरणीया डॉक्टर शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! पोस्ट की सराहना के लिए सादर धन्यवाद ! पाकिस्तान की हरकतें एक जिम्मेदार मुल्क की नहीं, बल्कि बन्दर के हाथ में उस्तरा लग जाने वाली जैसी हैं ! अपने ही जैसे खुराफाती और आतंकवादी नेचर के मुल्कों को वो परमाणु हथियार बेच विश्व को विनाश की और ले जा रहा है ! हो सकता है कि पाकिस्तान लीबिया को भी परमाणु बेम बेचने की फिराक में हो !

एल.एस. बिष्ट् के द्वारा
October 3, 2016

आपके नवीनतम ब्लाग पर प्रतिक्रिया नही जा सकी । शायद कोई तकनीकी समस्या है । लिख कर आया है कि इसमे कमेंट बंद कर दिये गये हैं । बहरहाल इस लेख पर आपने परमाणु राजनीति का अच्छाछा खुलासा किया है । मेरा भी मानना है कि ऐसे हालातो मे परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि के क्या मायने रह जाते हैं । इस मुद्दे पर सभी देशों को इस पृथ्वी ग्रह को बचाये रखने के लिए नये सिरे से और गंभीरता से सोचना होगा ।

rameshagarwal के द्वारा
October 3, 2016

जय श्री राम आपके नवीन्तन लेख पर प्रतिक्रिया नहीं जा रही लिख कर आता की प्रतिक्रियाए बंद हो गयी कई बार कोशिश की ,CIA ने जो रिपोर्ट अमेरिकन प्रशाशन को दी की मोदीजी पकिस्तान पर परिमाणु बम से हमला कर सकते और सब तैयारी पूरी हो गयी है पकिस्तान में कोइ बोल नहीं रहा अभी और भी सख्त कदम उठाये जायेंगे.लेख के लिए आभार.

sadguruji के द्वारा
October 7, 2016

आदरणीय विष्ट जी ! सादर अभिनन्दन ! उस ब्लॉग में कमेंट पर प्रतिबन्ध मंच द्वारा लगाया गया है ! कोई विशेष कारण होगा ! आपने परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि की चर्चा की है ! पाकिस्तान और उत्तरी कोरिया समेत कई देश इसका खुल्लमखुल्ला मख़ौल उड़ा रहे हैं ! यूएन कुछ नहीं कर पा रहा है ! सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
October 7, 2016

आदरणीय रमेश अग्रवाल जी ! जय श्रीराम ! उस ब्लॉग में कमेंट पर प्रतिबन्ध मंच द्वारा लगाया गया है ! कोई विशेष कारण होगा ! मेरे विचार से भी भारत को जरुरत पड़ने पर परमाणु बम का प्रयोग करना चाहिए ! ब्लॉग पर समय देने के लिए सादर आभार !

Bobs के द्वारा
November 5, 2016

Reading this makes my desoiicns easier than taking candy from a baby.

sadguruji के द्वारा
November 5, 2016

आदरणीय महोदय ! ब्लॉग पर आपका स्वागत है ! पोस्ट की सराहना करने और ब्लॉग पर आकर प्रतिक्रिया देने के लिए सादर धन्यवाद !


topic of the week



latest from jagran