सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

529 Posts

5725 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1331552

भारतीय सेना का अनुपम शौर्य: सिर काटने वालों के सिर उड़ा दिए- जागरण जंक्शन मंच

Posted On: 24 May, 2017 Junction Forum में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मंगलवार को भारतीय सेना ने यह कहकर सभी हिन्दुस्तानियों, खासकर शहीद सैनिकों के परिवारों को बहुत सुकून पहुंचाया कि उसने नौ मई के आस-पास पाकिस्तान के खिलाफ बेहद सख्त सैन्य कार्रवाई करते हुए उसकी कई सैन्य चौकियों और बंकरों को तबाह कर दिया है. जम्मू से 100 किलोमीटर दूर नौशेरा सेक्टर में अपनी सीमा के भीतर से ही रॉकेट लांचर, एंटी गाइडेड मिसाइल, 105 एमएम रिकोइल्स गन, 105 एमएम लाइट फिल्ड गन और 130 एमएम गन आदि का इस्तेमाल करते हुए यह कारवाई की. बंकरों में छिपे पाकिस्तानी सैनिकों और भारत में घुसपैठ करने का मौका तलाशते आतंकियों को जवाबी हमला करना तो दूर, उन्हें कुछ सोचने तक का वक्त नहीं मिला. भारतीय सेना ने 24 सेकेंड में 21 बार ब्लास्ट कर पाक चौकियों और बंकरों को उडाया. विशेषज्ञों का अनुमान है कि भारतीय सेना के इस हमले में पाकिस्तान के 20 से 25 सैनिकों के मारे जाने की संभावना है, इसमें सीमा पार के कई आतंकी भी शामिल हो सकते हैं, जो जम्मू-कश्मीर में हिंसा फैलाने के लिए घुसपैठ करने की फिराक में वहां पर डेरा जमाये हुए थे.

सेना ने मंगलवार को इस ऑपरेशन का न सिर्फ खुलेआम एलान किया है, बल्कि नौशेरा में हुई कार्रवाई का 24 सेंकेड का एक वीडियो भी जारी किया है. 1 मई की सुबह एलओसी पर गश्त कर रहे भारतीय जवानों पर पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों के साथ मिलकर हमला किया था और इस हमले में दो जवान शहीद हुए थे, जिनके शवों के सिर काटकर पाकिस्तानी सैनिकों और आतंकियों ने बर्बरता और अमानवीयता की सारी हदें पार कर दी थीं. नौशेरा में हुई कार्रवाई को कश्मीर समस्या के समाधान की दिशा में सख्त सैन्य कार्यवाही करने के संकेत के साथ ही इस साल 1 मई को भारतीय सैनिकों से की गई बर्बरता और उनके सिर काटने की नापाक हरकत का बदला लेने के संदर्भ में भी देखा जा रहा है. एक्सपर्ट का कहना है कि सेना का यह कदम बिलकुल सही है. जब तक पाकिस्तान कमजोर नहीं होगा, तबतक कश्मीर समस्या का समाधान भी नहीं निकलेगा. क्योंकि कश्मीर में घुसपैठ कराने वाला और आतंक का हिंसक खेल खिलाने वाला असली खिलाड़ी वही है,

कश्मीर में अमन और खुशहाली लाने के लिए पाकिस्तान को बुरी तरह से परास्त कर कमजोर करना बेहद जरुरी है. पाकिस्तान के सैनिक आतंकियों के साथ मिलकर गुरिल्ला युद्ध लड़ने और पीठ पीछे वार करने में ही माहिर हैं, वो आमने-सामने की लड़ाई नहीं लड़ सकते हैं, क्योंकि उनके जवान और जेसीओ आतंकियों के सहारे आगे बढ़ते हैं और आतंकियों के मरते ही वापस भागने लगते हैं. पाकिस्तानी सेना के अफसर मौज और अय्यासी करने के लिए जाने जाते हैं. बड़े पाकिस्तानी अफसरों के सैकड़ो बीघे में फैले फ़ार्म हाउस और बड़ी बड़ी फैक्ट्रियां हैं, जहाँ पर पाकिस्तानी सेना के जवान काम करते हैं. पाकिस्तानी सेना के अफसर बस एक काम बखूबी करते हैं और वो है, भारतीय सेना के हर दावे को सोशल मीडिया के जरिये ‘गलत’ करार दे दो, बस हो गई उनकी जबाब देने की जिम्मेदारी से छुट्टी. यही काम अफसरों ने इस बार भी किया है. पिछले साल पिछले साल 29 सितंबर को जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी, तब भी भारतीय सेना के खुलेआम एलान को उन्होंने गलत करार दिया था.

नौ मई को भारतीय सेना ने नौशेरा में कई पाकिस्तानी चौकियों और बंकरों को तबाह किया और न जाने कितने पाकिस्तानी सैनिकों और आतंकियों का भीषण बमबारी करके सिर उड़ा दिया. मजेदार बात यह है कि आज इसे गलत और झूठा करार देने वाला पाकिस्तान 13 मई को नौशेरा में हुई जबरदस्त बमबारी पर एतराज जताया था. पाकिस्तान को सबक सिखाने और सुधारने का सख्त से सख्त सैन्य कार्यवाही करने के सिवा अब हमारे पास और कोई भी विकल्प शेष नहीं बचा है. पाकिस्तान कमजोर होगा तो कश्मीर में उसके बल पर जारी आतंक भी मर जाएगा. कश्‍मीर में पत्थरबाजों से निपटने के लिए एक पत्थरबाज को जीप से बांधने वाले मेजर लितुल गोगोई की आजकल पूरे हिन्दुस्तान में खूब तारीफ़ हो रही है, हालांकि विपक्ष के कुछ नेता और बुद्धिजीवी उनकी आलोचना भी कर रहे हैं. मेजर लितुल गोगोई ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि पत्थर के साथ पेट्रोल बम भी फेंक रही भीड़ के बीच ऐसा कर उन्होंने कई लोगों की जान बचाई. वो सही कह रहे हैं, अंत में भारतीय सेना के अनुपम शौर्य को सलाम. जयहिंद.



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.75 out of 5)
Loading ... Loading ...

12 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rameshagarwal के द्वारा
May 24, 2017

जय श्री राम आदरणीय सद्गुरु जी कल जबसे ये समाचार टीवी में आई बहुत ही अच्छा लगा पाकिस्तान यही भाषा समझाता है उल्टा इसको नकारते उलटे भारत की चौलियो की गलत समाचार दे रहा.सौदी अरब में नवाज शरीफ को ट्रूम ने बोलने न देकर बहुत अच्छा सबक दिया उम्मीद है या तो पाकिस्तान सबक सीखेगा या फिर और नुक्सान के लिए तैयार रहे.सुन्दर लेख के लिए बधाई..

sadguruji के द्वारा
May 27, 2017

आदरणीय रमेश अग्रवाल जी ! जय श्रीराम और सादर अभिनन्दन ! भारतीय सेना अब सही कार्य कर रही है ! उसे इसकी खुली छूट भी मिलनी चाहिए ! पाकिस्तान कमजोर होगा तो कश्मीर का मसला भी हल हो जाएगा, क्योंकि इस मसले को हिंसक बनाने वाला और उलझाने वाला वही है ! पोस्ट की सराहना के लिए और ब्लॉग पर समय देने के लिए सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

Ravinder Sudan आदरणीय सदगुरु जी, आपने बड़ी धमाकेदारी खबर सुनाकर सभी भारतवासियों, अपने पाठकों को ऐसी खबर दी है जिसका अर्से से इंतजार था. सिर्क मुँहजबानी की हम कड़ी कार्यवाही करेंगे सुन सुनकर कान पक गये थे. आशा है ऐसी राहटभरी खबरें आपसे सुनने को मिलती रहेंगी.

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

आदरणीय रविन्द्र सूदन जी ! हार्दिक अभिनन्दन ! भारतीय सेना ने बिल्कुल सही और सटीक वार किया है ! अब इसी की जरूरत भी है ! पाकिस्तान को कमजोर किये बिना कश्मीर समस्या का हल नही ढूँढा जा सकता है ! उसे भौगोलिक, आर्थिक और कूटनीतिक तीनो तरीके से घुटने के बल लाने की जरूरत है ! आप सही कह रहे हैं कि नेताओं के मुंह से कड़ी कार्यवाही की बात सुनकर लोंगो को गुस्सा आता है ! सेना कार्यवाही करके जब खबर सुनाती है तो लोग उहकार उसे सेल्यूट करने लगते हैं ! हिन्द की सेना सदा सर्वदा जय हो ! ब्लॉग पर आने के लिये हार्दिक आभार !

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

Leela Tewani प्रिय ब्लॉगर सद्गुरु भाई जी, आपने बिलकुल दुरुस्त फरमाया है. मंगलवार को भारतीय सेना ने यह कहकर सभी हिन्दुस्तानियों, खासकर शहीद सैनिकों के परिवारों को बहुत सुकून पहुंचाया कि उसने नौ मई के आस-पास पाकिस्तान के खिलाफ बेहद सख्त सैन्य कार्रवाई करते हुए उसकी कई सैन्य चौकियों और बंकरों को तबाह कर दिया है. हमें तो तब अधिक खुशी होगी, जब यह खून-खराबा बंद हो जाएगा. हम भी शांति से रह सकें, सेना के जवान भी अत्यंत सटीक व सार्थक रचना के लिए आपका आभार.

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

आदरणीया लीला तिवानी जी ! सादर अभिनन्दन ! आपने सही कहा है कि सबसे अधिक खुशी प्रदान करने वाला दिन तो तब आयेगा, जब कश्मीर मे अमन चैन होगा और किसी का भी खून बहना बंद हो जायेगा ! पोस्ट की सराहना कर उसे सार्थकता प्रदान करने के लिये और ब्लॉग पर समय देने के लिये हार्दिक आभार !

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

AMIT परम आदरणीय बाबा सदगुरु जी महाराज, मेजर गगोई की जितनी भी तारीफ करी जाय वह कम है…. उन्होने देश के गद्दारो को बड़े ही नायाब तरीके से काबू मे किया जिससे साँप भी मर गया ओर छडी भी नही टूटी…इस पर मे उनको दिलसे सलाम ठोकता हु ओर मेरी राय मे सारे सेक्युलर वा मानव अधिकार वालो को भी उनको दिल से सलाम करना चाहिये क्योंकि यह तरीका अहिंसा पूर्ण था…. उनकी जगह अगर मे होता तो शायद अपने पर काबू ना रख कर गद्दारो पर फायरिंग करवा देता…. जय हिन्द … जय भारत

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

आदरणीय अमित जी ! सादर अभिनन्दन ! आपसे पूर्णत: सहमत हूँ कि मेजर गोगोई की जितनी भी प्रशंसा की जाये वो कम है ! उन्होने वाकई मे बहुत चतुराई से काम लिया और एक बेहद अनूठे व पूर्णत: अहिंसापूर्ण तरीके से बहुतों की जान बचाई ! उनकी जगह कोई दूसरा अधिकारी होता तो फायरिंग भी हो सकती थी ! इससे यह भी पता चलता है कि सेना कश्मीर मे कितने धैर्य से काम ले रही है ! भारतीय सेना को हम सब लोग सलाम करते हैं ! सार्थक व विचारणीय प्रतिक्रिया देने के लिये आपको बहुत बहुत धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

Rajeev Gupta आदरणीय राजेन्द्र ऋषि जी, बहुत ही बढिया खबर आपने अपने ब्लॉग के जरिये पाठकों तक पहुँचाई है. सरकार ने सेना को जितनी आज़ादी दी है, हालांकि वह अभी काफी नही है. सेना को यह आज़ादी भी मिलनी चाहिये कि वह हुरियत के लोगों से भी अपने तरीके से निपट सके. मेजर गोगोई को सम्मान देने के विरोध मे कुछ देशद्रोही लोग सामने आये हैं, इन लोगों से भी सरकार को सख्ती से निपटना चाहिये.

sadguruji के द्वारा
May 30, 2017

आदरणीय राजीव गुप्ता जी ! ब्लॉग पर स्वागत है ! पोस्ट की सराहना के लिये धन्यवाद ! आपका कहना सही है कि सेना को आजादी और मिलनी चाहिये, ताकि वो पाकिस्तान के साथ साथ कश्मीर के अंदर उत्पात मचाने वाले पत्थरबाजों और आतंकियों से भी सफलतापूर्वक निपट सके ! आपकी यह बात भी उचित है कि देश के शत्रु देश के बाहर ही नही, बल्कि देश के भीतर भी हैं ! सरकार को उनसे सख्ती से निपटना चाहिये ! ब्लॉग पर समय देने के लिये सादर आभार !

Shobha के द्वारा
June 2, 2017

श्री आदरणीय सद्गुरु जी हमारी सेना के शौर्य का जबाब नहीं हैं बंगला देश में उसके नायाब शौर्य को दुनिया ने जाना है लेकिन कश्मीर में उनके हाथ बांध दिए थे हाथ में गन है परन्तु न चलाने का आदेश था अब उनके हाथ खोले हैं आप देख लीजिये गा पाकिस्तान की हालत बहुत अच्छा लेख

sadguruji के द्वारा
June 3, 2017

आदरणीया शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! आप सही कह रही हैं हैं कि भारतीय सेना के शौर्य का कोई जबाब नहीं ! कश्मीर में सेना को खुली छूट देते ही खुराफाती आतंकवादी और सारे खुराफात की जड़ पाकिस्तान दोनों को ही अब नानी याद आने लगी है ! हमें साम, दाम, दंड, भेद सबका इस्तेमाल कर कश्मीर के हालात सुधारने हैं और कश्मीर को फिर से भारत का स्वर्ग बनाना है ! अच्छे लेकिन हेतु समय समय पर दिए गए आपके सहयोग समर्थन के लिए तथा पोस्ट की सराहना के लिए हार्दिक आभार !


topic of the week



latest from jagran