sadguruji

सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

532 Posts

5763 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1339957

अमरनाथ यात्रियों पर हमला: मोदी के खिलाफ बोलकर कांग्रेस किसकी मदद कर रही?

Posted On: 13 Jul, 2017 पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

सोमवार 10 जुलाई को अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों से भरी बस पर बड़ा आंतकी हमला हुआ, जिसमें 7 लोगों की दुखद मौत हुई और 19 से ज्यादा लोग घायल हुए। इस दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण हमले की राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और विपक्षी दल कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत देश-विदेश के तमाम नेताओं ने आलोचना की, जबकि अभी तक हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान ने हमले की निंदा नहीं की है।

modi

वो निंदा करेगा भी क्यों, धन, हथियार और प्रशिक्षण देकर खूंखार बना दिए गए आतंकी संगठनों हिज़्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के जरिये वो पिछले कई दशकों से कश्मीर में खून की होली खेल रहा है। अमरनाथ यात्रियों पर हमला भी इन्ही दो संगठनों में से किसी एक ने किया है, लेकिन हमले की जिम्मेदारी कोई भी संगठन नहीं ले रहा। क्योंकि एक तो निहत्थे अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले की बहुत से कश्मीरी लोग जोरदार निंदा कर रहे हैं। खासकर जिन्हे अमरनाथ यात्रा से वर्षों पुराना भावनात्मक लगाव है या फिर जिनके कारोबारी हित इस यात्रा से जुड़े हुए हैं।

दूसरी ओर आतंकियों के सबसे बड़े पनाहगाह पकिस्तान पर इस समय आतंकवाद के खात्मे को लेकर अंतरराष्ट्रीय दबाब बहुत ज्यादा बन चुका है। आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी अपने ऊपर लें या न लें, किन्तु कांग्रेसी नेताओं ने हमले की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर थोप दी है। राजनीतिक गणित का मोदी विरोधी फॉर्मूला अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने कुछ इस तरह से प्रस्तुत किया है- मोदी का व्यक्तिगत फायदा=भारत की रणनीतिक हार+निर्दोष भारतीयों का खून कुर्बान।

नानी के यहां से गणित पर रिसर्च कर लौटे राहुल गांधी प्रधानमंत्री मोदी पर लगातार हमले कर रहे हैं, लेकिन अमरनाथ तीर्थ यात्रियों पर हमला करने वाले आतंकवादियों पर रहस्यमय ढंग से चुप्पी साधे हुए हैं। जम्मू-कश्मीर में दो साल पहले बने बीजेपी-पीडीपी गठबंधन से राहुल गांधी को आज बड़ी एलर्जी है, लेकिन दो साल पहले पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस से गठजोड़ कर वहां पर सरकार बनाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर उनकी पार्टी ने लगा दिया था। इसमें उन्हें नाकामयाबी ही हासिल हुई थी। तभी से उन्हें इस गठबंधन से चिढ़ है।

फ़िल्म ‘चलती का नाम गाड़ी’ में मज़रूह सुलतानपुरी का लिखा हुआ और मशहूर गायक किशोर कुमार द्वारा गाया गया एक लोकप्रिय गीत है,
हम थे वो थी, वो थी हम थे
हम थे वो थी और समा रंगीन समझ गए ना
जाते थे जापान पहुंच गए चीन समझ गए ना
याने याने प्यार हो गया…

कुछ इसी तर्ज पर बीते दिनों राहुल गांधी चीनी राजदूत से मिलने पहुंच गए। शायद पाकिस्तानी राजदूत से मिलने निकले हों, क्योंकि चीन की जगह पाकिस्तान से कांग्रेसियों के मधुर संबंध ज्यादा बेहतर हैं। ये बात सब जानते हैं। चीनी राजदूत से क्या बात हुई, इस पर राहुल गांधी ने अभी तक रहस्य्मय ढंग से चुप्पी साध रखी है। राहुल गाँधी चीनी राजदूत से जाने-अनजाने मिलने क्या पहुंच गए, उसके बाद चीन की हिम्मत इतनी बढ़ गई कि वो भारत स्थित कश्मीर में अपनी सेना भेजने की धमकी देने लगा। क्या यह कांग्रेस को दी जा रही चीनी मदद है?

दो साल पहले कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर जब पाकिस्तान गए थे, तो उन्होंने भारतीय जनता के भारी बहुमत से बनी मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए उससे मदद मांगी थी, ताकि कांग्रेस पाकिस्तान से दोस्ती प्रगाढ़ कर सके। पाकिस्तान के पास कांग्रेस की मदद करने का एक ही तरीका है और वो है अपने पाले हुए आतंकी गुर्गों से भारत पर बार-बार हमले काराओ, ताकि कांग्रेस को मोदी सरकार पर हमले करने का भरपूर मौका मिले और इसी को मुद्दा बना वो 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव जीतकर देश की सत्ता हासिल कर ले। कांग्रेस के नेता सत्ता पाने के लिए किस हद तक गिर सकते हैं, ये उनके विवादित और घटिया बयानों से जाहिर होता है।

एक कांग्रेसी नेता का कहना है कि चूंकि गुजरात विधानसभा के चुनाव नजदीक आ रहे हैं, इसलिए बीजेपी वालों ने कश्मीर में गुजरात के तीर्थ यात्रियों की बस पर खुद ही हमला करवा दिया और गुजरात के कई निर्दोष लोगों को मरवा दिया। भाजपा और मोदी के खिलाफ बोल के कांग्रेस किसकी मदद कर रही है? जाहिर सी बात है कि आतंकवादियों की और पाकिस्तान की। सब जानते हैं कि कश्मीर समस्या नेहरू-गांधी परिवार की दी हुई वो विरासत है, जिसका खामियाजा पूरा मुल्क भुगत रहा है।

कांग्रेस के प्रवक्ता टीवी न्यूज चैनलों पर बार-बार सीना तानकर कहते हैं कि सिर्फ हमारे नेताओं ने देश के लिए अपनी जान कुर्बान की है। उन्हें यह भी बताना चाहिए उनके नेता किस बाॅर्डर पर बंदूक लेकर आतंकवादियों से या फिर देश के दुश्मनों से लड़े थे। देश पर निरंतर पाकिस्तानी सेना और आतंकवादियों की तरफ से हमले हो रहे हैं और कांग्रेस देश की सुरक्षा को दांव पर लगाकर घटिया राजनीतिक खेल खेलते हुए केंद्र की सत्ता में वापसी का स्वप्न देख रही है। देश की जनता को ऐसी राजनीतिक पार्टी को दूर से ही सलाम करके और रसातल में जाने के लिए छोड़ देना चाहिए।



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

14 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Rinki Raut के द्वारा
July 14, 2017

सद्गुरु जी, मुझे लगता है की कोई पार्टी अभी तक इतनी शक्तिशाली नहीं हुई की देश की जनता का फेसला बदल दे चाहे कांग्रेस या बीजेपी.

sadguruji के द्वारा
July 14, 2017

आदरणीया रिंकी राउत जी ! ब्लॉग पर स्वागत है ! आपकी बात सही है, लोकतंत्र में जनता शक्तिशाली हैं, लेकिन देश की जनता चुनाव के समय ही अपना फैसला देती है ! चुनाव के बाद पांच साल तक राजनीतिक पार्टिया अपनी मनमानी करती हैं ! ब्लॉग पर समय देने के लिए सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

Leela Tewani प्रिय ब्लॉगर सद्गुरु भाई जी, सभी अमरनाथ यात्रियों की हिम्मत की दाद देनी बनती है, जो साहस से परिस्थितियों का मुकाबला कर रहे हैं. जो चले गए, उनको हमारी ओर से श्रद्धांजलि.बेतुके बोल बोलने वाले खुद ही शरमिंदगी महसूस करेंगे. अत्यंत समसामयिक, सटीक व सार्थक रचना के लिए आपका आभार.

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

आदरणीया लीला तिवानी जी ! सार्थक और सटीक प्रतिक्रिया से पोस्ट को सार्थकता प्रदान करने के लिये हार्दिक आभार ! आप ने ठीक कहा है कि अमरनाथ यात्रियों के साहस की सराहना करनी चाहिये, जो आतंकी हमले के वावजूद भी यात्रा जारी रखे हुए हैं ! हमले मे मारे गये तीर्थयात्रियों को हम सब की ओर से श्रद्धांजलि ! ईश्वर उन्हे शान्ति और सद्गति दें ! ब्लॉग पर समय देने के लिये हार्दिक आभार !

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

Rajkumar kandu आदरणीय सदगुरुजी ! मौजूदा परिदृश्य पर बहुत ही सटीक व उम्दा लेख के लिये बधाई व धन्यवाद / पाकिस्तान की ही कार्र्वाई हो और वो अपने मकसद में कामयाब हो तो फिर उसका खुश होना स्वभाविक है / हालांकि सभी सम्बद्ध लोगों ने तत्परता से निन्दा की है लेकिन अब स्मय आ गया है जब हमें निन्दा प्रस्ताव से उपर उठकर आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिये / विपक्ष का सहयोग अपेक्षित होता है और ताजा खबर के मुताबिक विपक्ष ने सरकर को पाकिस्तान और चीना के मुद्दे पर सहयोग का भरोसा दिलाया है / सुन्दर सटीक लेख के लिये धन्यवाद /

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

आदरणीय राजकुमार कान्दु जी ! जी… आप बिल्कुल सही कह रहे हैं कि अब निन्दा की जगह आतंकियों और उनके आका पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिये ! सर्वदलीय बैठक मे विपक्ष सरकार का साथ देने की बात करता है, लेकिन मीडिया मे सरकार के हर कदम का विरोध भी जारी है ! पोस्ट की सराहना के लिये और सार्थक व विचारणीय प्रतिक्रिया देने के लिये धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

Indresh Uniyal आदरणीय सदगुरु जी कांग्रेस ही क्या आजकल सारा विपक्ष हताशा और निराशा से इसी प्रकार के बोल बोल रहा है. आजकल सोशल मीडिया पर भी कांग्रेसी और आपिये सरकार के खिलाफ झूठा प्रचार करने में लगे हैं. कांग्रेस की तो बात ही क्या है उसके नेता तो पाकिस्तान जा कर उससे मोदी को हटाने के लिये मदद की गुहार लगाते हैं.

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

Shobhabhardwaja श्री आदरणीय सद्गुरु जी अमर नाथ यात्रा में लाखो कश्मीर में आते है टूरिज्म पर तो आतंकवादियों ने ग्रहण लगा दिया पूरे वर्ष की आय का साधन अमरनाथ बाबा के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं से आय होती थी उस पर भी अब ग्रहण लग गया बड़ी भावना से लिखा गया आपका लेख

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

आदरणीया शोभा भारद्वाज जी ! आपने सही कहा है कि आतंकवादियों ने कश्मीर मे टूरिज् म को भारी क्षति पहुँचाई है ! जो कश्मीरी भाई इस कारोबार से जुड़े हैं, उन्हे बहुत नुकसान हुआ है ! पोस्ट की सराहना के लिये धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
July 17, 2017

आदरणीय इंद्रेश उनियाल जी ! कांग्रेस ओर आप वाले चाहे कितना भी झूठा प्रचार कर लें, लेकिन मोदी सरकार जबतक देशहित के लिये सही रास्ते पर चलेगी, कोई उसका कुछ बिगाड़ नही पायेगा ! भारत पर निरन्तर हमले कर पाकिस्तान कांग्रेस की मदद कर ही रहा है ! ब्लॉग पर समय देने के लिये सादर आभार !

Shobha के द्वारा
July 19, 2017

श्री आदरणीय सद्गुरु जी आपके शुरू के लेखों पर प्रतिक्रिया नहीं जा रही है चेक करियेगा

sadguruji के द्वारा
July 19, 2017

आदरणीया शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! मेरे प्रोफाइल के द्वारा किसी भी लेख पर प्रतिक्रया देने में कोई रोक नहीं है ! मंच की कोई तकनीकी समस्या हो सकती है, जिसे जानने की कोशिश करूंगा ! इस ओर ध्यान दिलाने के लिए धन्यवाद !

Shobha के द्वारा
July 26, 2017

श्री आदरणीय सद्गुरु जी कम्प्यूटर की तकनीकी खराबी से होता है इस लिए मैं आगाह कर देती हूँ गडबड वहाँ होती है जहाँ लेखों के संख्या और प्रतिक्रिया में गडबड होती है मेरी अमरनाथ जी के यात्रा पर जाने की सदैव इच्छा रही है लेकिन काफी वर्षों से कमर में गड़बड है अत जा नहीं सकी बहुत अच्छा लेख

sadguruji के द्वारा
July 31, 2017

आदरणीया शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! अपने कंप्यूटर की तकनीकी दिक्कत दूर करने के लिए मैंने ब्राउजर चेंज कर दिया है ! अब ठीक है ! बाबा अमरनाथ जी आपके भीतर विराजमान हैं ! अब मन में ही दर्शन करें ! पोस्ट की सराहना के लिए हार्दिक आभार !


topic of the week



latest from jagran