सद्गुरुजी

आदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

530 Posts

5737 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 15204 postid : 1369857

'तू चाय बेच': प्रधानमंत्री मोदी को कांग्रेस ने फिर किया अपमानित

Posted On: 22 Nov, 2017 Politics में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कांग्रेसियों की सामंती सोच एक बार फिर देश के सामने उजागर हुई है. यूथ कांग्रेस की ऑनलाइन मैगजीन ने एक मीम (नक़ल, कार्टून या मजाक) के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘तू चाय बेच’ कहकर संबोधित और अपमानित किया है. ट्विटर हैंडल ‘युवा देश’ के जरिए पोस्ट किए गए मीम में मोदी को चायवाला बताकर मजाक बनाया गया था, जिसे बाद में यूथ कांग्रेस की मैगजीन के आधिकारिक हैंडल से हटा दिया गया. कांग्रेस की यह कैसी घृणित और अलोकतांत्रिक सोच है कि भारत में शासन करने का अधिकार सिर्फ उन्ही के पास है? एक चाय बेचने वाला भारत का प्रधानमंत्री नहीं बन सकता है, कांग्रेस की राजशाही वाली यह सामंती सोच अब देश में नहीं चलेगी, क्योंकि देश की जनता उसकी गुलाम नहीं है.

- (2)

वैसे भी ‘मोदी युग’ में हिन्दुस्तान की जनता अब पूरी तरह से जागरूक हो चुकी है. लोकतंत्र में ऐसी राजतंत्र और तानाशाही वाली घटिया सोच कांग्रेस की जनता के दिल में बची खुची पुरानी इमेज को भी पूरी तरह से बर्बाद कर देगी. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बिल्कुल सही कहा है कि ‘तू चाय बेच’ के बयान से कांग्रेस पार्टी ने गुजरात का अपमान किया है. ऐसा लगता है कि कांग्रेस के लिए अब कुछ भी नहीं बचा है. यह सारे देश के गरीबों का अपमान है.’ इस मीम के जरिये कांग्रेस ने सिर्फ गुजरात का ही अपमान नहीं किया है, बल्कि उसने तो पूरे देश का अपमान किया है, क्योंकि जनता द्वारा चुना गया प्रधानमंत्री किसी पार्टी का नहीं, बल्कि पूरे मुल्क का संवैधानिक मुखिया होता है.

कांग्रेस ने मोदी के नाम पर वोट देने वाली देश की करोडो जनता का भी अपमान किया है. यही नहीं, बल्कि उसने इस कार्टून के जरिये अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा का भी अपमान किया है. कांग्रेस की गलती किसी भी तरह से माफ़ी के लायक नहीं है. कांग्रसी क्या 2014 का लोकसभा चुनाव भूल गए, जब कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर ने बड़े अहंकार से भरे शब्दों में मोदी के लिए कहा था, ‘पीएम पद की कोई वेकैंसी नहीं है. हां, मोदी चाहें, तो यहां चाय बेच सकते हैं.’ इसका परिणाम क्या हुआ सब जानते हैं. कांग्रेस की अब तक की सबसे बुरी ऐतिहासिक हार हुई. कांग्रेस ने मोदी के लिए की गई उस बदजुबानी से और करारी शिकस्त से कोई सबक सीखा हो, ऐसा नहीं लगता है.

अब फिर वो मोदी को अपमानित करते हुए कह रहे हैं कि ‘तू चाय बेच’. इस समय गुजरात का चुनाव सामने है. ऐसे में कांग्रेसियों को मोदी का इस तरह से मजाक उड़ाना बहुत भारी पड़ सकता है. कांग्रेस के लोंगो के ऐसे बयान और घटिया दर्जे के निंदनीय मजाक खुद अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी चलाने जैसे हैं. जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने इसे कांग्रेस पार्टी द्वारा की जाने वाली राजनीतिक आत्महत्या कहा है. उमर अब्दुल्ला अच्छी तरह से जानते हैं कि देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ ऐसे बेहूदा मजाक से गुजरात में कांग्रेस अपनी लुटिया डुबो देगी, इसलिए वो इसे राजनीतिक आत्महत्या करार दे रहे हैं.
उमर अब्दुल्ला विपक्षी खेमे में कांग्रेस पार्टी के सहयोगी हैं, इसलिए उनका बयान महत्वपूर्ण है.

हालाँकि कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सफाई देते हुए कहा है कि पार्टी इस तरह के ह्यूमर को खारिज करती है. अब पार्टी जो चाहे कहे, कांग्रेस को जो नुक्सान होना था वो तो हो चुका. उसे गुजरात में इसका भरी नुकसान झेलना पड़ सकता है. भाजपा इसे मुद्दा बना दी है. केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने पूछा है कि मैडम सोनिया गांधी और श्रीमान राहुल गांधी क्या भारत में शासन करने का सिर्फ आपके पास ही दैवीय अधिकार है? क्या चाय बेचने वाले के परिवार में या गरीबी में जन्म लेने वाला एक व्यक्ति भारत जैसे महान लोकतांत्रिक देश का प्रधानमंत्री नहीं बन सकता है? युवा कांग्रेस का ट्वीट शर्मनाक और गरीबों का अपमान करने वाला था, इसमें कोई संदेह नहीं. गरीबों के प्रति उनकी घटिया और सामंती सोच बेनकाब हो गई.



Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

12 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

harirawat के द्वारा
November 24, 2017

sadguruji kangress is desh ki upaj nahin hai ! gulami men janmee maansiktaa bhi vaise hi hogi1 vanshvaadi paarti !

Shobha के द्वारा
November 25, 2017

श्री आदरणीय सद्गुरु जी आपने लेख द्वारा राजनीति के गिरते स्तर पर चर्चा की देश के प्रधान मंत्री को लेकर ऐसे कार्टून आने वाली पीढ़ी में कैसे नेता आने वाले है

Shobha के द्वारा
November 25, 2017

श्री सद्गुरु जी राहुल गाँधी पर लिखे लेख पर प्रतिक्रिया नहीं जा रही

Shobha के द्वारा
December 6, 2017

श्री आदरणीय सद्गुरु जी आपके सभी लेख बेहतरीन होते हैं है आप बड़ी मेहनत से लिखते हैं इस लिए आप सदैव बधाई के पात्र हैं आपके राहुल गांधी पर लिखे लेख पर प्रतिक्रिया नहीं जा रही नहीं तो हर बेहतरीन बात को हाई लाईट करती सद्गुरु जी आप अपने विचार बड़े सुंदर ढंग से लिखते हैं आप बहुत अच्छे लेखक हैं |

animesh126 के द्वारा
December 12, 2017

ेोपग प 

sadguruji के द्वारा
February 6, 2018

आदरणीय अनिमेष जी ! ब्लॉग पर स्वागत है ! लेख पढ़ने और पसंद करने के लिए धन्यवाद !

sadguruji के द्वारा
February 6, 2018

आदरणीय शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! लगभग दो माह तक नहीं कुछ लिखा ! कुटिया बनवाने में व्यस्त था ! अब आप लोंगो से वैचारिक मुलाक़ात ब्लॉग पर होती रहेगी ! आपने लेख पसंद कर जो कुछ भी कहा है, उसके लिए सादर धन्यवाद ! आप जैसी विदुषी लेखिका और कृपालु पाठक का मेरे ब्लॉग पर आना बड़े सौभाग्य की बात है ! बस इतना ही कहूंगा ! सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
February 6, 2018

आदरणीय शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! जागरण मंच ने शायद कोई रोक लगाईं होगी ! लेख को पढ़ने के लिए सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
February 6, 2018

आदरणीय शोभा भारद्वाज जी ! आपने बिलकुल सही कहा कि प्रधानमंत्री का इस तरह से मजाक उड़ाना राजनीति के गिरते स्तर के साथ साथ कांग्रेसियों के कुसंस्कार और सामंती सोच को भी दर्शाती है ! ब्लॉग पर समय देने के लिए सादर आभार !

sadguruji के द्वारा
February 6, 2018

आदरणीय हरिरावत जी ! सादर अभिनन्दन ! आपने सही कहा कि कांग्रेस सामंती सोच वाली एक वंशवादी पार्टी है ! मानसिक रूप से देश के लोग बहुत समय तक उसे झेले, किन्तु सौभाग्य से पिछले लोकसभा चनाव में नरेंद्र मोदी जी के आने से उसकी मानसिक गुलामी से जनता मुक्त हुई ! चूँकि अब कांग्रेस की सत्ता देश के केंद्र में ख़त्म हो चुकी है, इसलिए उसका बौखलाना स्वाभाविक ही था ! ब्लॉग पर समय देने के लिए हार्दिक आभार !

डॉ शोभा भारद्वाज के द्वारा
February 7, 2018

श्री आदरणीय सद्गुरु जी आपके बजट पर लिखे लेख पर प्रतिक्रिया नहीं जायेगी कारण 59,172 पोस्ट्स? 57381 कमैंट्स? आपको काफी समय बाद ब्लॉग पर देखा सद्गुरु जी मिडिल क्लास के लिया काजू सस्ता हो गया है काजू खाईये कोलोस्टोल बढाईये बढाईये जब आपके लेख पर प्रतिक्रिया जायेगी तब प्रतिक्रिया लिखूंगी|

sadguruji के द्वारा
February 7, 2018

आदरणीया डॉ शोभा भारद्वाज जी ! सादर अभिनन्दन ! ब्लॉग पर समय देने के लिए धन्यवाद ! दो माह से अपनी कुटिया बनवाने और उस पर टीनशेड लगवाने में व्यस्त था, इसलिए मंच पर नहीं आ सका ! इतनी पोस्ट और कमेंट दिखाने वाला ब्लॉग जागरण मंच का है, उस पर कमेंट नहीं जाएगा ! आप मेरे ब्लॉग पर आकर कमेंट करेंगी, तभी कमेंट प्रकाशित होगा ! आपने भी खूब व्यंग्य मरा है कि काजू खाईये कोलोस्टोल बढाईये ! लेख पढ़ने के लिए सादर धन्यवाद !


topic of the week



latest from jagran